Ad

डीजल इंजन बनाने के बाद क्यों दुनिया को अलविदा किया?Who invented the diesel engine and when?

कहा जाता है कि डॉक्टर भगवान से कम नहीं होते असल में वैज्ञानिक भी भगवान से कम नहीं होते उन्हें भी उतना ही दर्जा दिया जाना चाहिए क्योंकि वैज्ञानिक है जो आज के हमारे आधुनिक लोगों को इतना ज्यादा एडवांस बनाया है वही कुछ वैज्ञानिकों के द्वारा किए गए अविष्कार को लोग उतना ज्यादा मायने नहीं देते लेकिन बाद में चलकर वह अविष्कार हमारी जिंदगी बदल देता है।

Who invented the diesel engine and when?

ऐसा ही कुछ हम बात करने वाले हैं डीजल इंजन का आविष्कार करने वाले वैज्ञानिक Rudolf Diesel के बारे में कि आखिर क्यों डीजल इंजन का आविष्कार करने के बाद दुनिया को अलविदा कहा, चलिए जानते हैं आज के इस पूरे आर्टिकल में ।

अमेरिका के लोग क्रिकेट क्यों नहीं खेलते? Top 5 amazing facts in Hindi?

डीजल इंजन का आविष्कार कब और किसने किया?

डीजल इंजन का आविष्कार साल 1890 के दशक में सर रुडोल्फ डीजल जी ने किया था। डीजल शब्द उन्हीं के नाम से लिया गया है, ताकि उन्हें सम्मान दिया जा सके ।

डीजल इंजन का आविष्कार होने के बाद क्या हुआ?

Rudolf diesel जी ने जब डीजल इंजन का आविष्कार किया तब इनका आकार काफी बड़ा था और यह तकनीक जब उस समय नई थी तो यह इंजन बहुत ही धीरे चलता था इसी वजह से रुडोल्फ डीजल जी को लगा कि उनका बनाया गया यह मशीन शायद दुनिया में किसी भी काम करने के लायक नहीं है उन्हें लगा कि उनका यह अविष्कार बेकार चला गया है क्योंकि उन्होंने अपनी जिंदगी का अहम हिस्सा उस मशीन को बनाने में लगाया था शायद उनके आविष्कार को लोगों ने ज्यादा वैल्यू भी नहीं दिया होगा रिजेक्शन का भी सामना करना पड़ा होगा इसी वजह से उन्होंने आत्महत्या कर लिया हालांकि इस बात में कितनी सच्चाई है यह पूरी तरह से पता नहीं लगा पाया गया क्योंकि कुछ रिपोर्ट का कहना है कि उनकी मौत बहुत ही रहस्यमय तरीके से हुई थी वहीं इस बात का अंदाजा ज्यादा है कि उन्होंने आत्महत्या ही की थी।

हिंदुस्तान एम्बेसडर के बारे में 10 ऐसे रोचक तथ्य?॥10 facts about Hindustan ambassador in Hindi?

आज डीजल इंजन की क्या वैल्यू है?

दोस्तों दो हजार अट्ठारह के एक रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि दुनिया में जितनी भी गाड़ियां है उन सभी गाड़ियों में से 60% गाड़ियां डीजल इंजन पर चलती है अगर उन्होंने जानबूझकर खुदकुशी की है तो उन्हें इस बात का अफसोस होना चाहिए कि वह बहुत जल्दी हार मान गए दोस्तों आज डीजल इंजन की क्या अहमियत है यह हम सभी जानते हैं आज सड़कों पर दो तरह की गाड़ियां चलती है पहला पेट्रोल इंजन डीजल इंजन दोनों ही अपने मामले में सर्वश्रेष्ठ हैंं।

दोस्त लोग सही कहते हैं कि हमें जल्द ही हार नहीं माननी चाहिए हमें कुछ पाने के लिए अपनी पूरी कोशिश करनी चाहिए

दोस्तों अब आप कमेंट करके बताएं कि आपको हमारा यह पोस्ट कैसा लगा आप हमारे वेबसाइट के और भी कई सारे बेहद रोमांचक पोस्ट पढ़ सकते हैं नीचे दिए गए किसी एक पोस्ट को जरूर पढ़ें अगर आप चाहते हैं कि आपके दोस्त और परिवार के लिए हमारी वेबसाइट के रोमांचक पोस्ट पढ़ सके तो आप उन्हें भी हमारे पोस्ट के लिए साझा कर सकते हैं।.

हम यहां भी हैं। हमें फॉलो करना ना भूलें

FACEBOOK ॥ TWITTER ॥ INSTAGRAM ॥  SHARE CHAT ॥ TELEGRAM

इन्हें भी पढ़ें -


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ